ये हैं साल 2016 के 10 बेहतरीन डायलॉग जो चढ़ गए लोगों की ज़ुबान पर

साल 2016 में भी बहुत अच्छी फ़िल्में रिलीज़ आई और गई. कुछ फ़िल्में लोगों की फेवरेट लिस्ट में शामिल हुई तो कुछ कब रिलीज़ हुई किसी को पता भी नहीं चला. खैर जो भी जो अच्छा-बुरा ज़िन्दगी की रीत हैं जो यूँ ही चलती रहती है.

यह साल हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के लिये अलग-अलग विषयों पर बनी फिल्मों के नाम रहा. बायोपिक, रोमांटिक, स्पोर्ट्स ड्रामा, थ्रिलर सहित तमाम फिल्में आई. आज हम आपको याद दिला रहे हैं इस साल के 10 जबदस्त डायलॉगस जिनको दर्शकों ने बहुत पसंद किया.

रुस्तम (मेरी यूनिफार्म मेरी आदत है…)

rustom

1950 के दशक के मशहूर नानावटी केस पर आधारित फिल्म ‘रुस्तम’ में यूँ तो कई अच्छे डायलॉग थे. लेकिन इस फिल्म का जो सबसे फेमस डायलॉग है वह हैं ये दो डायलॉग ‘मेरी यूनिफार्म मेरी आदत है, जैसे कि सांस लेना, अपने देश की रक्षा करना’.

पिंक (No Means No)

pink

महानायक अमिताभ बच्चन ने जब कोर्ट के भीतर खड़े होकर ‘No Means No’ कहा तो दर्शकों की तालियों की गड़गड़ाहट थमने का नाम ही नहीं ले रही थी.