ये 10 दर्द भरे अफ़साने और शायरी पढ़े

होश दोनों में खो जाता है फर्क सिर्फ इतना है शराब सुला देती और मोहबत रुला देती| प्यार का उसे पैगाम क्या दूँ इस दिल में दर्द नहीं यादें है उसकी अब यादें ही मुझे दर्द दे तो उसे इलज़ाम क्या दूँ

1.

होश दोनों में खो जाता है
फर्क सिर्फ इतना है
शराब सुला देती है
और मोहबत रुला देती

2.

प्यार का उसे पैगाम क्या दूँ
इस दिल में दर्द नहीं यादें है उसकी
अब यादें ही मुझे दर्द दे तो उसे इलज़ाम क्या दूँ