अपने दिल की बात का इज़हार करने के ये 10 शायरियां पढ़े

हर किसी से अपने दिल की बात बोल देने का मतलब होता है, अपनी कमजोरियों को खोलकर दूसरे के सामने रख देना

1.

दिल की बात दिल में हीं रहे तो अच्छा है
हर किसी को दिल खोलकर, दिल के राज दिखाया नहीं करते.

2.

दिल कितने भी जख्मों से भरा क्यों न हो
दिल के जख्मों का यूँ सरेआम तमाशा बनाया नहीं करते.