1.

रख लो दिल में संभाल कर थोड़ी सी यादें हमारी,

रह जाओगे जब तन्हा बहुत काम आयेंगे हम।

2.

भीगते हैं जिस तरह से तेरी यादों में डूब कर,

इस बारिश में कहाँ वो कशिश तेरे खयालों जैसी।

3.

ना चाहकर भी मेरे लब पर ये फ़रियाद आ जाती है,

ऐ चाँद सामने न आ किसी की याद आ जाती है।

4.

बरसों हुए न तुम ने किया भूल कर भी याद,

वादे की तरह हम भी फ़रामोश हो गए।

5.

जरूरी तो नही है कि तुझे आँखों से ही देखूँ,

तेरी याद का आना भी तेरे दीदार से कम नही।

6.

बड़ी गुस्ताख है तुम्हारी याद इसे तमीज सिखा दो,

दस्तक भी नहीं देती और दिल में उतर जाती है।

7.

ये रस्म-ए-उल्फ़त इजाज़त नहीं देती वरना,

हम तुम्हे ऐसे भूलेंगे कि तुम सदा रखोगे।

8.

ढूंढ रहा हूँ लेकिन नाकाम हूँ अब तक,

वो लम्हा जिसमे तू मुझे याद न आता हो।

9.

तुझे याद कर लूं तो मिल जाता है सुकून,

मेरे गमों का इलाज भी कितना सस्ता है।

10.

ना मैं शायर हूँ ना मेरा शायरी से कोई वास्ता,

बस शौक बन गया है तेरी यादो को बयान करना।

SHARE