ग़ालिब की ये दर्द भरी खतरनाक शायरियां

पूछते हैं वो कि ‘ग़ालिब’ कौन है, कोई बतलाओ कि हम बतलाएं’ मिर्ज़ा असद-उल्लाह बेग ख़ां उर्फ़ ‘ग़ालिब’ को अब तक का सबसे महान शायर कहा जाता है. वो मुगल काल के आखिरी बादशाह ‘बहादुर शाह ज़फ़र’ के दरबारी कवि भी रहे थे.

फ़ारसी भाषा की शायरियों को भारत में मशहूर करने का भी श्रेय उन्हें ही दिया जाता है. उन्होंने अपने बारे में ख़ुद लिखा था कि ‘हैं और भी दुनिया में सुख़नवर बहुत अच्छे, कहते हैं कि ग़ालिब का है अन्दाज़-ए-बयां और’ जिसका मतलब है दुनिया में बहुत से कवि-शायर ज़रूर हैं, लेकिन उनका लहज़ा सबसे निराला है. उनकी ऐसी ही कुछ निराली शायरी से आईए आपको मुख़ातिब करवाते हैं!

1. कौन जीता है किसके लिए ?

67_588049e6540ba (1)

2.

67_588049f18679b