आपके गलतियों का प्रायश्चित करने के लिए ये 10 माफ़ी शायरियां

खता हो गयी तो फिर सज़ा सुना दो... दिल में इतना दर्द क्यूँ है वजह बता दो... देर हो गयी याद करने में जरूर... लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो...

1.

देखा है आज मुझे भी गुस्से की नज़र से,

मालूम नहीं आज वो किस-किस से लड़े है।

2.

न तेरी शान कम होती न रुतबा ही घटा होता,

जो गुस्से में कहा तुमने वही हँस के कहा होता।

Advertisment