आपके गलतियों का प्रायश्चित करने के लिए ये 10 माफ़ी शायरियां

खता हो गयी तो फिर सज़ा सुना दो... दिल में इतना दर्द क्यूँ है वजह बता दो... देर हो गयी याद करने में जरूर... लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो...

3.

खता हो गयी तो फिर सज़ा सुना दो,

दिल में इतना दर्द क्यूँ है वजह बता दो,

देर हो गयी याद करने में जरूर,

लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो।

4.

Advertisment

दिल से तेरी याद को जुदा तो नहीं किया,

रखा जो तुझे याद कुछ बुरा तो नहीं किया,

हम से तू नाराज़ हैं किस लिये बता जरा,

हमने कभी तुझे खफा तो नहीं किया।